ट्रेंडिंग

ई-साइकिल बाजार: EMotorad स्पार्क्स लाया तकनीकी क्रांति

भारत में मोबिलिटी का भविष्य इलेक्ट्रिक वाहनों में है। ईवी बाजार में कई स्टार्टअप स्मार्ट मोबिलिटी सॉल्यूशंस विकसित कर रहे हैं। पुणे स्थित ई-साइकिल स्टार्टअप ईमोटोरैड एक ऐसा स्टार्टअप है जिसने कम समय में पहचान हासिल की है। 2020 में शुरू हुए इस ब्रांड की खासियत यह है कि यह बाजार में किफायती कीमतों पर प्रीमियम क्वालिटी के इलेक्ट्रिक साइकिल लाता है। ईमोटोरैड ने ‘मेड इन इंडिया’ इलेक्ट्रिक साइकिल के साथ अपनी सफल यात्रा जारी रखी है।
     राजीव गंगोपाध्याय, कुणाल गुप्ता, आदित्य ओझा और सुमेध बट्टवार इसके संस्थापक हैं। स्टार्टअप के 58 देशों में क्लाइंट हैं। यह वर्तमान में तीन मॉडल पेश करता है। अब तक, स्टार्टअप ने भारत में 2,000 से अधिक ई-साइकिल वितरित किए हैं। स्टार्टअप ने पिछले अगस्त में ‘फर्स्ट इन इंडिया’ टैगलाइन के साथ डुअल सस्पेंशन बाइक ईएमएक्स लॉन्च की थी। मॉडल 28 किमी / घंटा की टॉप गति तक पहुंच सकता है और एक बार चार्ज करने पर 45 किलोमीटर तक की यात्रा कर सकता है। इस साल जनवरी में, दूसरा उत्पाद, टी-रेक्स पेश किया गया था। इसे भारतीय भूभाग के अनुकूल बनाया गया था। स्टार्टअप का तीसरा उत्पाद डूडल एक मोटे टायर वाली फोल्डेबल ई-बाइक है। यह इसी महीने अंतरराष्ट्रीय बाजार में उतरने के लिए तैयार है।
   डिस्प्ले, बैटरी क्षमता, फ्रेम, डिरेलियर, हैंडलबार, स्टेम आदि के अनुसार कीमतें बदलती रहती हैं। राजीब का कहना है कि अन्य ब्रांडों के समान ई-साइकिलों की कीमत 80,000 रुपये से 1 लाख रुपये के बीच हो सकती है, लेकिन ईमोटरैड साइकिल आधी कीमत पर आती है। ब्रांड इस सितंबर में दुबई, अबू धाबी, शारजाह और ओमान में अपनी उपस्थिति का विस्तार करेगा। यूएई में एंट्री ट्राइफोल्ड ई-बाइक ट्राइबल और डिलीवरी मिनी स्कूटर Ener-G के जरिए होई ।
   ईमोटोरैड ट्रैकिंग और सुरक्षा एप्लिकेशन भी प्रदान करता है जिसे उपयोगकर्ता के स्मार्टफोन के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है। ऐप ओडोमीटर रीडिंग, ट्रिप मीटर, बैटरी वोल्टेज, बैटरी स्टेटस और कैलोरी को ट्रैक करता है।
  स्टार्टअप अब फंड जुटाने की प्रक्रिया में है। भारतीय बी2सी बाजार में ईमोटोरैड का राजस्व छह महीनों में 10 लाख डॉलर को पार कर गया है। कुणाल गुप्ता का कहना है कि फर्म ने इस साल की आखिरी तिमाही के अंत तक अंतरराष्ट्रीय बी2बी बाजार से 25 मिलियन डॉलर का राजस्व लक्ष्य निर्धारित किया है। कुणाल ने कहा, “अभी, हमारी ऑर्डर बुक 6 मिलियन डॉलर है।”

Leave a Reply

Back to top button