उद्यमी

सब्यसाची मुखर्जी -Indian Fashion Design के सरताज

Indian fashion design में सरताज बनें सब्यसाची मुखर्जी एक सफल व्यवसायी हैं ।Fashion डिज़ाइनर बनने का सपना लेकर 15 साल की उम्र में घर को छोड़ना पड़ा ।गोवा के एक होटल में वेटर का काम करके National institute of Fashion design technology का exam लिखने के लिए fees जमा कर पाए।पढ़ाई के बाद खुद के labelपर एक फैशन स्टोर की शुरुवात की ।हर किसी के प्रेरणा स्त्रोत बनें सब्यसाची मुखर्जी एक सफल व्यवसायी हैं।NIFT में पढ़ाई करने का सपना घर वाले पैसे की कमी की वजह से पूरा नहीं कर सके ,इसीलिए 15 साल की उम्र में घर को छोड़ कर खुद की मेहनत से अपनी पढ़ाई पूरी की ।पढ़ाई के बाद ,अपनी बहन से 20 ,000 रूपए उधार लेकर सब्यसाची labelसे एक फैशन स्टोर open किया ।5 साल की निरंतर कोशिश के बाद सब्यसाची ने फैशन की दुनिया में अपना नाम कमाया ।2002 में Indian फैशन वीक में सब्यसाची ने भाग लिया ,उनके women ‘s wear को लोगों नें  बहुत सराहा ।साथ में सिंगापुर में आयोजित मर्सेडीज़ बेन्स न्यू एशिया फैशन वीक में ग्रैंड विनर भी बनें सब्यसाची ।2006 में oxford university annual black tie charity में nair sisters के नाम के कलेक्शन सब्यसाची के लिए mile stone थी ।संजय लीला बंसाली की ब्लैक से सब्यसाची बॉलीवुड के सफल डिज़ाइनर बनें।2005 में Best costume designer का National award सब्यसाची को ब्लैक ने दिलाया ।बाबुल ,रावण ,पा ,No  one killed jessica ,English Vinglish  आदि फिल्मों में सब्यसाची ने अपनी छाप छोड़ी ।अनुष्का विराट कोहली ,दीपिका पादुकोण ,बिपाशा बसु,विद्या बालन ,समन्ता ,ईशा अम्बानी के शादी के जोड़े को सब्यसाची ने सजाया ।पिछले 15 सालों से भारतीय पहनावे को एक नया आयाम देने के लिए सब्यसाची ने भरपूर प्रयास किया है ।खादी,कॉटन ,सिल्क कपड़ों से सब्यसाची ने अपनी एक अलग छाप छोड़ दि हैं वो सिर्फ इसलिए कि सब्यसाची ने अपने पैशन को अपना व्यवसाय बनाया ।

Leave a Reply

Back to top button