ट्रेंडिंग

मलेशियाई रबर ग्लोव उद्योग – महामारी, समृद्दि की एक वजह

ऐसे समय में जब वैश्विक कारोबार कोरोना के कारण नीचे गिर रहे हैं, दिलचस्प बात यह है कि कुछ ने अरबपति क्लब में प्रवेश किया है। यह कुछ मलेशियाई उद्यमी हैं जिन्होंने इन तीन महीनों के दौरान लाभ अर्जित किया। मलेशिया दुनिया मे रबर के दस्तानों की 65% आपूर्ति करता है। मलेशिया में चार प्रमुख रबर दस्तानो के व्यापार कंपनियों ने कोरोना अवधि के दौरान $ 100 Cr से अधिक उत्पन्न किया है। टॉप ग्लोव कोर्पोरेशन, दुनिया की सबसे बड़ी रबड़ दस्तानो की निर्माता, हार्टलेगा होल्डिंग्स और कोसन रबर इंडस्ट्रीज की की बिक्री और शेयर मूल्य में अभूतपूर्व वृद्धि देखी जा रही है दस्ताने बनाने वाली कंपनी सुपरमैक्स ने इस तीन महीनो की अवधि में पांच गुना वृद्धि देखी । थाई किम सिम द्वारा 1987 में स्थापित, सुपरमैक्स ने लेटेक्स दस्तानो के व्यापार के साथ शुरुआत की। 1989 में, कंपनी दस्तानो का निर्माण करने लगी । मलेशिया में पहली दस्ताने विनिर्माण इकाई, सुपरमैक्स, जो आज 160 देशों को लेटेक्स दस्ताने निर्यात करती है, दुनिया के बाजार का 12% नियंत्रित करती है। उनके उत्पाद मुख्य रूप से चिकित्सा सर्जरी की जरूरतों को लक्षित करते हैं। कोरोना के प्रसार के साथ, दस्ताने आम लोगों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के लिए एक आवश्यकता बन गए हैं। यह अनुमान है कि अगले सात महीनों में दुनिया भर में 33,000 करोड़ से अधिक लेटेक्स दस्तानो की आवश्यकता होगी। दुनिया के लेटेक्स दस्तानो के दो-तिहाई नियंत्रित करने वाले मलेशिया को इस स्थिति से लाभ होने वाला है। इसके अलावा, रबर की बढ़ती कीमतो के कारण, स्थानीय रबर उत्पादकों को उचित मूल्य मिल रहा है। केरल जिसमें रबर उत्पादकों की भारी तादाद है, मलेशिया की सफलता का अनुकरण कर सकता है। उद्यमिता हमेशा सही अवसर को जानकार उसका लाभ उठाने की एक कला है।

Tags

Leave a Reply

Back to top button
Close